May 17, 2022

रविरंजन सिंह बैकुंठपुर के पत्रकार के खिलाफ द्वेषपूर्ण कार्यवाही करने पर जिला बैकुंठपुर पुलिस अधीक्षक एवं पटना थाना प्रभारी को तत्काल हटाया जाने एवं पत्रकार के खिलाफ की गई गलत एफआईआर  निरस्त करने के लिए प्रदेश के गृहमंत्री से उनके निवास स्थान पर मुलाकात की गई…

145 Views

प्रदेश के हर जिले में पत्रकार सुरक्षा समिति बैकुंठपुर पुलिस अधीक्षक एवं पटना थाना प्रभारी के खिलाफ मुख्यमंत्री एवं पुलिस महानिदेशक के नाम 14 फरवरी  को ज्ञापन सौपा गया था ।

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ पत्रकारों के साथ हो रहे अन्याय की घोर विरोध एवं निंदा करता है और इसी कड़ी में आज 5 मार्च को रायपुर प्रदेश संगठन मंत्री नाहिदा क़ुरैशी एवं कार्यकारिणी सदस्यों ने गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू से की मुलाकात और प्रदेश के समस्त पत्रकारों पर हो रहे द्वेषपूर्ण कार्यवाही को लेकर ज्ञापन सौंपा गया ।

गृहमंत्री ने दिया आश्वासन उन्होंने कहा – निश्चित ही यदि द्वेषपूर्ण कार्यवाही की गई है तो जांच उपरांत दोषियों के ऊपर कड़ी कार्यवाही की जाएगी और मैं स्वयं इस मामले को देखता हूं ।

रायपुर :- अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति रायपुर छत्तीसगढ़ द्वारा कोरिया के पत्रकार रविरंजन सिंह के साथ द्वेषपूर्ण तरीके से की गई एफआईआर का विरोध एवं कोरिया एस.पी.एवं पटना थानाप्रभारी को तत्काल हटाया जाए और पत्रकार पर हुई एफआईआर को तत्काल निरस्त किया जाये जैसे मांगों को लेकर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू जी से आज प्रदेश संगठन मंत्री नाहिदा क़ुरैशी और उनकी टीम ने मुलाकात की।

क्या था मामला जानिए :-

रवि रंजन सिंह बैकुंठपुर के द्वारा सोशल मीडिया में वायरल चैट को लेकर एक लेख प्रकाशित किया गया था। जिसमें विभाग के कई कर्मचारियों के नाम सामने आए थे? जिसके चलते पुलिस अधीक्षक बैकुंठपुर की शह पर थाना प्रभारी पटना के द्वारा बिना जांच पड़ताल किये पत्रकार रवि रंजन सिंह के ऊपर फर्जी मामला दर्ज कर दिया गया और उनके निकट जनों को एक अपराधी की भाँति बिना किसी सर्च वारंट के तथा बिना दूसरे जिले के लोकल पुलिस एवं परिवार जनों को सूचना दिए, सूरजपुर जिले से लाकर पटना थाने में मार पीट की गई,जिसमे एक महिला एवं १३ वर्ष के नाबालिग बच्चे को मानसिक एवं शारिरिक क्षति पहुंची।

पत्रकार के ऊपर हुई गलत एफआईआर को तत्काल हटाने के लिए समस्त पत्रकार साथियो ने हर जिले से ज्ञापन सौंपा ,पत्रकार की गिरफ्तारी रोकने एवं पुलिस अधीक्षक एवं थाना प्रभारी को भी तत्काल हटाने के लिए हर जिले से पत्रकारों ने उठायी आवाज , लेकिन उसके बाद से प्रदेश में कई अन्य जगहों पर लगातार पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार एवं बिना जांच एफआईआर होते रहे ,जो चौथे स्तभ्म का सम्मान नही करते है बल्कि उनसे द्वेष रखते हुए अपने पद का दुरुपयोग कर रहे है  जिसका अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ घोर विरोध एवं निंदा करती है ।

पुलिस प्रशासन इस तरह अपने निजी शत्रुता के लिए अपने पद का गलत इस्तेमाल करता है तो यह कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ है जिसे बर्दाश्त नही किया जा सकता ।
प्रदेश के गृहमंत्री ने मामले को संज्ञान में लेने का आश्वासन दिया है ।
अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ से प्रदेश संगठन मंत्री नाहिदा क़ुरैशी , दिनेशचंद्र कुमार , फरहान यूनुस और रमीज़ अशरफी मौजूद रहे ।

Author