December 6, 2021

पौधरोपण के लिए नर्सरी जिले में ही तैयार करें – कलेक्टर

47 Views

एनजीजीबी योजना की प्रगति की समीक्षा बैठक संपन्न

जांजगीर-चापा:- कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला ने आज जिला कार्यालय के सभाकक्ष में नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी (एनजीजीबी) योजना की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि यह राज्य सरकार की महत्वकांक्षी और सर्वोच्च प्राथमिकता की योजना है। इस योजना को ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक समृद्धि के आधार के रूप में विकसित किया जा रहा है। ये योजनाएं प्राथमिकता के साथ समय पर पूर्ण होनी चाहिए। कलेक्टर ने उद्यान विभाग के अधिकारी से कहा कि आगामी पौधरोपण के लिए नर्सरी जिले में ही तैयार होनी चाहिए। इसकी तैयारी अभी से प्रारंभ कर दें ताकि पौधरोपण के समय जिले में ही पौधे उपलब्ध हो सके। इसी प्रकार गौठान विकास से संबंधित अधिकारियों से कहा कि जिले में स्वीकृत गौठानों का कार्य योजनाबद्ध तरीके से समय सीमा में पूर्ण करें। ऐसे गौठान जिसका निर्माण किसी कारण से बाधित है, उस अनुविभाग के संबंधित एसडीएम से समन्वय कर उसका निराकरण सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने जिला पंचायत सीईओ से कहा कि ऐसे गांव जो राष्ट्रीय राजमार्ग के समीप स्थित है वहां पर रोड मवेशी ना बैठे इसके लिए कार्ययोजना बना ले। इससे सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी और मवेशी भी सुरक्षित रहेंगे। उन्होंने कहा कि ऐसे गौठान जहां मछली पालन के लिए पानी की समुचित व्यवस्था है, वहां पर छोटी डबरी निर्माण कराने के लिए प्रस्ताव तैयार करें यह अधिक फायदेमंद और महिला स्व सहायता समूह को व्यवसायिक गतिविधि से जोड़े रखने के लिए अच्छा व्यवसाय साबित होगा। कलेक्टर ने नरवा विकास योजना के तहत जल संवर्धन के लिए प्राप्त प्रस्तावों का परीक्षण कर स्वीकृति प्रदान करने के लिए जिला पंचायत सीईओ को निर्देश दिए। इससे धान कटाई के बाद गांव के स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा और कार्य में प्रगति आयेगी साथ ही लक्ष्य भी समय पर पूरा होगा। जिला पंचायत सीईओ श्री गजेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग के समीप स्थित ग्राम पंचायतों के गौठानों में रात्रि में मवेशियों को संरक्षित रखने के लिए समुचित प्रबंध किया जाएगा। ताकि मवेशी रात्रि के समय सड़क पर न बैठे। कलेक्टर ने बैठक के बाद पृथक से पशुधन विकास विकास विभाग के अधिकारियों से चर्चा कर कहा कि 1 महीने के भीतर विभागीय योजनाओं में प्रगति होनी चाहिए। इसके लिए वे पूरी गंभीरता के साथ कार्य करें। उन्होंने कहा कि वार्षिक लक्ष्य को तिमाही और मासिक लक्ष्य में बांटकर कार्य में प्रगति लाएं। बैठक में सहायक कलेक्टर रोमा श्रीवास्तव, नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी योजना से संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी और सभी एसडीएम उपस्थित थे।

Author