December 6, 2021

गोवर्धन पूजा के दिन गोड़म में धूम धाम से मनाया गया गौठान दिवस विधायक ने की महिलाओं की जमकर तारीफ

99 Views

हमारे देश मे गोवर्धन पूजा का हमेशा ही विशेष महत्व रहा है, दीपावली के अगले दिन मनाये जाने वाला इस त्यौहार में गायों की सेवा की जाती है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के निर्देश पर ग्राम गोड़म में गोवर्धन पूजा में गोठान दिवस बड़े ही धूम धाम से मनाया गया ।

सारंगढ़ :- ग्राम पंचायत गोड़म के गौठान में महिला समिति के द्वारा विधायक महोदया श्रीमती उत्तरी गणपत जांगड़े, जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मंजू मालाकार और गोपाल मैडम का जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद महिलाओं ने मुख्य अतिथियों के सामने गरबा नृत्य भी किये। गायों की पूजा करने के पश्चात उन्हें खिचड़ी व बड़ा खिलाया गया जो महिलाओं द्वारा गौठान में ही बनाये गये थे। इस बीच विधायक महोदया द्वारा गौठान में ही मल्टी एक्टिविटी सेंटर का शिलान्यास भी किया गया ।

अपने भाषण के दौरान विधायक महोदया ने गोड़म के महिला समिति के सदस्यों की जमकर तारीफ की और कहा गोड़म कि महिलाएं हमेशा आगे रहती हैं, गांव और क्षेत्र का नाम रौशन कर रही हैं।

पूरे कार्यक्रम के दौरान सरपंच श्रीमती ललिता चंद्रप्रकाश साहू, सचिव श्री रामेश्वर पुराईन, समस्त पंच, ग्राम सेवक श्री सी आर बंजारे, जनपद पंचायत सारंगढ़ से कार्यक्रम अधिकारी एडिशनल सीईओ श्री श्याम बंधु पटेल, श्री युवराज पटेल, एडीओ श्रीमती संजू पटेल, तकनीकी सहायक श्री चंद्रमणि पोर्ते, रोजगार सहायक दीनानाथ नेताम, सक्रिय महिला, स्व सहायता समूह व ग्रामीणों की उपस्थिति रही भगवान श्रीकृष्ण इंद्र का अभिमान चूर करना चाहते थे. इसके लिए उन्होंने गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी अंगुली पर उठाकर गोकुल वासियों की इंद्र से रक्षा की थी. माना जाता है कि इसके बाद भगवान कृष्ण ने स्वंय कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा के दिन 56 भोग बनाकर गोवर्धन पर्वत की पूजा करने का आदेश दिया दिया था. तभी से गोवर्धन पूजा की प्रथा आज भी कायम है और हर साल गोवर्धन पूजा का त्योहार मनाया जाता है।

Author