January 20, 2022

शासकीय महाविद्यालय में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी हेतु मार्गदर्शन कार्यक्रम आयोजित

53 Views

रायपुर :- शासकीय नागार्जुन स्नातकोत्तर विज्ञान महाविद्यालय, रायपुर में विशेष रोजगार कार्यालय द्वारा छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग उच्च शिक्षा एवं विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी हेतु मार्गदर्शन कार्यक्रम आज आयोजन किया गया।
मार्गदर्शन कार्यक्रम में महाविद्यालय के प्राचार्य डा. पी.सी बाँचे, विशेष रोजगार कार्यालय की उपसंचालक डॉ (श्रीमती) शशीकला अतुलवार, पी.एस.सी से चयनित नयनियुक्त श्री आशुतोष देवांगन (डिप्टी कलेक्टर), श्री सलिल साहू नवनियुक्त (लेखा अधिकारी) सुश्री मेघा मिश्रा नवनियुक्त (आबकारी उप निरीक्षक वाणिज्य कर (आबकारी) उपस्थित हुए।

कार्यक्रम की शुरुआत में डॉ. बी.पी. तिवारी ने बताया कि उनके महाविद्यालय से ऑनलाईन प्री माक इंटरयूब से पी.एस.सी 2019 में 44 सहायक प्राध्यापकांे का चयन हुआ है। नवनियुक्त डिप्टी कलेक्टर आशुतोष देवांगन ने कहा कि अपना लक्ष्य निर्धारित करे.ं अपने कमियों को दूर करे, देश-दुनिया खबरों की जानकारी रखे जिससे आपका जनरल नॉलेज में अच्छी पकड़ बनी रहे, 10 बुक को बजाय एक बुक को निरंतरता से स्वयं का आकलन करंे, एक अच्छा फ्रेंड स्टडी गुप बनाएं जो आपको पढ़ने में मदद करे, मेडिटेशन (योगा) करें।

उन्होंने परीक्षा क्रेक करने के कुछ टिप्स बताये- किसी भी विषय के टॉपिक को पढ़ने के बाद उसके एम सी क्यू साल्व पारके देखे रेगुलर रिवीजन करे, टेस्ट सिरिज ज्वाइंन करे समयबद्ध रहे, जो टॉपिक आपको पढ़ने में जो अच्छा लगे उसे अच्छे से तैयार करंे।
उन्होंने सरकारी और निजी क्षेत्रों के मध्य जॉब के अंतर को स्पष्ट करते हुए बताया कि सरकारी नौकरी में हमें सोशियल रिस्पेक्ट मिलता है जबकि निजी क्षेत्रों में सिर्फ अच्छी सैलेरी मिलती है प्राइवेट सेक्टर में भी सही मार्गदर्शन और कड़ी मेहनत से एक क्लर्क से सी ई ओं तक जा सकते है जिसमें सारी सुविधाये मिलती है।

श्री सलिल साहू ने बताया कि कोई भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए धैर्य और कड़ी मेहनत की जरूरत होती है । एग्जाम क्रेक करने के लिए पढ़ाई में होशियार होना जरूरी नहीं बल्कि कड़ी मेहनत, सकारात्मक सोच, प्लानिंग, समयबद्ध ऑनलाईन स्टडी तथा अच्छी बुक से तैयारी से सफलता जरूरत मिलती है। नकारात्मकता और डिमोटिवेट करने वालों से दूर रहना चाहिए।

सुश्री मेघा मिश्रा ने बताया कि लोक सेवा आयोग या कोई भी प्रतियोगी परीक्षा के लिए उनका बैकग्राउंड मायने नहीं रखता कि वो किस विषय से है। उन्होंने परीक्षा क्रेक करने के लिए सेल्फ स्टडी अपना लक्ष्य को टारगेट करें और कड़ी मेहनत के साथ स्मार्ट वर्क के साथ रेगुलर स्टडी पर फोकस करना चाहिए। उन्होंने धैर्य को सफलता की कुंजी बताया।

विशेष रोजगार कार्यालय की उपसंचालक डॉ.(श्रीमती) शशीकला अतुलकर ने छात्र-छात्राओं को बताया कि आत्मविश्वास के साथ साथ लॉॅ एट्रेक्शन सिद्धांत पर अपने लक्ष्य पर फोकस करके कड़ी मेहनत करे तो सफलता अवश्य प्राप्त कर सकते हैं। कार्यक्रम में डॉ.बी.पी.त्रिपाठी, डॉ. हर्ष शर्मा उपस्थित रहे। कार्यक्रम का समापन प्रोफेसर डॉ. हर्ष शर्मा ने किया।

Author