December 6, 2021

तीन सालों से एक ही जगह जमे पटवारी और बाबुओं को बदलने का फरमान कलेक्टर ने जारी किया आदेश

81 Views

कलेक्ट्रेट-तहसील समेत पटवारी हल्कों में कई सालों से एक जगह जमे पटवारियों और बाबुओं की कुर्सियां अब हिलना तय है। क्योंकि ऐसे कर्मचारियों को इधर से इधर नहीं किए जाने से मनमानी का खेल चल रहा है।

रायपुर :- कलेक्ट्रेट-तहसील समेत पटवारी हल्कों में कई सालों से एक जगह जमे पटवारियों और बाबुओं की कुर्सियां अब हिलना तय है। क्योंकि ऐसे कर्मचारियों को इधर से इधर नहीं किए जाने से मनमानी का खेल चल रहा है और लोग छोटे-छोटे प्रकरणों को लेकर परेशान होते रहते हैं। ऐसी परिपाटी पर सख्ती से रोक लगाने की जरूरतें लंबे समय से महसूस की जा रही थी। विगत दिनों कलेक्टर कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजस्व प्रकरणों को निराकरण समय पर नहीं होने को लेकर कड़े संकेत दिए थे। अब उस पर अमल करने की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। शुक्रवार को रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार ने यह फरमान जारी किया है कि ऐसे पटवारियों, कलेक्टर और तहसील कार्यालयों के सहायक अधीक्षक, ग्रेड-2 और ग्रेड-3 के बाबुओं की सूची तैयार की जाए, जो तीन सालों से एक ही जगह पदस्थ हैं। ऐसे कर्मचारियों को उसी कार्यालय में एक शाखा से दूसरी शाखा में अनुविभागीय अधिकारी पदस्थ करेंगे। पटवारियों का हल्का परिवर्तित करने का भी आदेश जारी किया है। 7 दिन के अंदर पालन करना होगा
कलेक्टर और तहसील कार्यालयों में यह शिकायतें लगातार बनी रही कि राजस्व अधिकारियों की मिलीभगत से एक जगह कई बाबू कई वर्षों से पदस्थ हैं। उनको इधर से इधर नहीं किया जाता है। इससे लोगों का काम प्रभावित होता है। कलेक्टर सौरभ कुमार ने जारी आदेश में कहा कि तीन साल से एक ही जगह पर जो कर्मचारी और पटवारी एक ही हल्का में पदस्थ हैं, उनको उस जगह से हटाकर दूसरी जगह पदस्थ करने की जिम्मेदारी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों की होगी। कलेक्टर ने 7 दिन का समय आदेश पर अमल करने के लिए दिया है। जबकि तहसीलदारों को 4 दिन के अंदर कर्मचारियों और पटवारियों की रिपोर्ट अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को देनी होगी।

Author